448 अंक की उछाल के बाद नई उचाई पर सेंसेक्स


By: Admin on: Friday,26 May 2017|15:24:14



448 अंक की उछाल के बाद नई उचाई पर सेंसेक्स


शेयर बाजारों में आज जोरदार तेजी आयी और बीएसई सेंसेक्स 448 अंक उछलकर 30,750 अंक की नई उंचाई पर बंद हुआ. अमेरिकी फेडरल रिजर्व के भविष्य में ब्याज दर वृद्धि को लेकर और सतर्क रूख अपनाने के संकेत के बाद यह तेजी आयी. पिछले दो महीनों में एक दिन में यह सेंसेक्स की बड़ी तेजी है.
 
पचास शेयरों वाला एनएसई निफ्टी भी 9,500 के स्तर से उपर बंद हुआ.कारोबारियों के अनुसार अमेरिकी केंद्रीय बैंक के 2-3 मई की बैठक के ब्योरे के सामने आने से अचानक से निवेशकों को बल मिला जो तेजी का एक बहुत बड़ा कारण है. इससे निवेशकों ने अपने सौदे को पूरा किया क्योंकि मई के वायदा एवं विकल्प खंड के अनुबंध का गुरूवार को अंतिम दिन था.
 
बंबई शेयर बाजार में तीस शेयरों वाला सेंसेक्स कारोबार के दौरान एक समय नई सर्वकालिक उंचाई 30,793.43 अंक तक चला गया. इससे पहले, 19 मई को यह 30,712.35 अंक तक गया था.
 
 
कारोबार की समाप्ति पर यह 448.39 अंक या 1.48 प्रतिशत की बढ़त के साथ 30,750.03 अंक के नये रिकार्ड स्तर पर बंद हुआ. इससे पहले, 17 मई को यह रिकार्ड 30,658.77 अंक पर बंद हुआ था.सेंसेक्स में आज की तेजी 14 मार्च के बाद सबसे बड़ी तेजी है. तब सेंसेक्स 496.40 अंक चढ़ा था. पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 269.33 अंक टूटा था.
 
पचास शेयरों वाला एनएसई निफ्टी भी आज 149.20 अंक या 1.59 अंक की मजबूती के साथ 9,509.75 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह उंचे में 9,523.30 अंक तक चला गया था.डालर के मुकाबले रुपया दूसरे दिन मजबूत होकर 64.62 पर बंद हुआ. इससे भी धारणा को बल मिला.
 
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘बाजार में तेजी का कारण एफओएमसी (फेडरल ओपन मार्केट कमेटी) के ब्योरे में आर्थिक वृद्धि में नरमी के कारण ब्याज दर में भविष्य में वृद्धि को लेकर चिंता साझा किया जाना है. यह उभरते बाजारों के लिये सकारात्मक है.’ कुछ कंपनियों के बेहतर वित्तीय नतीजे से भी धारणा को बल मिला.
 
घरेलू बाजार में तेजी अन्य एशियाई बाजारों में मजबूती के अनुरूप है. फेडरल रिजर्व की बैठक का ब्योरा सार्वजनिक होने से वाल स्ट्रीट में तेजी से दुनिया के अन्य बाजारों पर प्रभाव पड़ा.
 
यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में भी शुरूआती कारोबार में तेजी रही.सर्वाधिक लाभ में लार्सन एंड टूब्रो रही जो 4.97 प्रतिशत मजबूत हुआ. उसके बाद आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक तथा इंफोसिस का स्थान रहा.
 
वोल्टास का तिमाही परिणाम बेहतर रहने से शेयर 6.25 प्रतिशत बढ़कर एक साल के उच्च स्तर पर पहुंच गया. वहीं दूसरी तरफ ल्यूपिन 7.31 प्रतिशत नीचे आया. कंपनी ने कल एकीकृत शुद्ध लाभ में गिरावट की सूचना दी थी जिससे कंपनी का शेयर नीचे आया.





Name  

Email ID
Comments
 




ट्रेडिंग न्यूज़