DDCA विवाद: केजरीवाल मानहानि के मामले में देरी की कोशिश कर रहे हैं : जेटली


By: Admin on: Tuesday,26 September 2017|11:01:33



DDCA विवाद: केजरीवाल मानहानि के मामले में देरी की कोशिश कर रहे हैं : जेटली


नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने दिल्ली उच्च न्यायालय में आप नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मानहानि के मामले में देरी करने की रणनीति अपनाने का आरोप लगाया. जेटली ने यह आरोप केजरीवाल द्वारा 1999 से 2014 के बीच क्रिकेट संस्था डीडीसीए की बैठकों का ब्यौरा मंगाने का अनुरोध करने पर लगाया.


जेटली की दलीलों का विरोध करते हुए केजरीवाल के वकील ने कहा कि अगर कोई अनियमितताएं नहीं हैं तो भाजपा नेता दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के दस्तावेजों को तलब करने का विरोध क्यों कर रहे हैं. जेटली और केजरीवाल के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद संयुक्त रजिस्ट्रार ने स्पष्टीकरण मांगने और आप नेता के आवेदन पर आदेश के लिए 31 अक्तूबर की तारीख तय की. केजरीवाल ने उनके तथा पांच अन्य आप नेताओं के खिलाफ केन्द्रीय मंत्री द्वारा दायर मानहानि वाद में यह याचिका दायर की थी. केन्द्रीय मंत्री ने उनके बतौर अध्यक्ष कार्यकाल के दौरान डीडीसीए में अनियमितताओं के कथित 'मानहानिपूर्ण' आरोपों के लिए 10 करोड़ रुपए की क्षतिपूर्ति मांगी थी.


सुनवाई के दौरान, जेटली की ओर से पेश अधिवक्ता माणिक डोगरा ने दलील दी कि ऐसा आवेदन दायर करके केजरीवाल मामले में देरी की रणनीति अपनाए हुए हैं और कार्यवाही को टालने का प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि दस्तावेज तलब करने के लिए, कथित अनियमितताओं के कुछ सबूत होने चाहिए और केवल आरोपों के आधार पर कागजात मंगाए नहीं जा सकते. केजरीवाल की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता अनूप जार्ज चौधरी ने कहा कि अगर कोई अनियमितता नहीं है तो जेटली इन बैठकों का ब्यौरा मंगाने का विरोध क्यों कर रहे हैं.





Name  

Email ID
Comments
 




ट्रेडिंग न्यूज़