इस तरह से नहीं बढ़ेगा आपका वजन


By: Admin on: Tuesday,03 October 2017|13:19:53



इस तरह से नहीं बढ़ेगा आपका वजन


बढ़ता वजन आप के माथे पर सिकुड़नों को बढ़ाता होगा, तो दिनबदिन बढ़ती चरबी आप को लोगों के सामने नहीं खुद अपनी नजरों में भी शर्मिंदा करती होगी। ऐसा चाहे डिलिवरी के बाद हुआ हो या अचानक यों ही, आप ने अपने वजन को घटाने के लिए व्यायाम, जिम, कार्डियो ऐक्सरसाइज वगैरह क्या कुछ नहीं किया लेकिन याद रखिए कि वजन घटाने का मतलब यह नहीं कि आप क्रैश डाइटिंग कर के एकदम से छरहरे बदन की हो जाएं। ध्यान रहे कि ऐसा करने से स्टैमिना कमजोर हो जाता है, तो न काम में मन लगता है और न दैनिक कार्यों के लिए ऐनर्जी रहती है। आप हैल्दी फूड के साथसाथ नियमित ऐक्सरसाइज व व्यायाम से ही अपना वजन मैंटेन कर सकती हैं।
आप का नाश्ता बिलकुल सही हो और थोड़ीथोड़ी देर बाद आप कुछ न कुछ खाती रहें। लेकिन डाइट में कैलोरी की मात्रा कम होनी चाहिए। तलेभुने और फास्ट फूड से दूर रहें। रात का खाना 8 बजे तक कर लें ताकि खाने को पचने का पर्याप्त समय मिल जाए और रात का खाना आप के पूरे दिन के खाने में सब से हलका होना चाहिए।
कुल मिला कर डाइट संतुलित मात्रा में लेनी चाहिए और डाइट में प्रोटीन, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट की प्रचुर मात्रा होनी चाहिए। एक आम इनसान को प्रतिदिन 2,500 कैलोरी की डाइट लेनी चाहिए। तभी हमारा शरीर स्वस्थ व छरहरा रह सकता है। आप अपने लिए डाइट प्लान इस तरह करें:


Eating

  • दिन में 3 बार की जगह 5 बार मील्स लें। इस में साबूत अनाज (ब्राउन राइस, व्हीट ब्रैड, बाजरा, ज्वार आदि) अवश्य शामिल करें। नौनरिफाइंड व्हाइट प्रोडक्ट्स (व्हाइट ब्रैड, व्हाइट राइस, मैदा आदि) को डाइट से पूरी तरह हटा दें।
  • डाइट में टोंड दूध से बना दही, पनीर व दाल, मछली आदि शामिल करें।
  • कब्ज व पेट की मरोड़ से बचने के लिए खाने में फाइबर की मात्रा बढ़ाएं। इस के लिए सप्लिमैंट्स के बजाय प्राकृतिक फाइबर लें। फाइबर के प्रमुख स्रोत हैं, साबूत अनाज, होम मेड सूप, दलिया, फल आदि। इन से फाइबर के साथसाथ कई मिनरल्स व विटामिंस भी मिलेंगे।

Drink milk

  •  हड्डियों की मजबूती के लिए डाइट में कैल्सियम की मात्रा बढ़ाएं। इस के प्रमुख स्रोत हैं- दूध, मछली, मेवा, खरबूज के बीज, सफेद तिल आदि। याद रहे कि पतले होने के फेर में कैल्सियम को डाइट से नदारद किया तो गठिया आप को जकड़ सकता है।
  • वजन कम करने के लिए आप फैट इनटेक (वसा की मात्रा) कम करना चाहते हैं, तो डाइट से फैट्स एकदम हटाने की जरूरत नहीं। डाइटिशियन के अनुसार, ऐनर्जी लैवल को बनाए रखने, टिशू रिपेयर और विटामिंस को बौडी के सभी हिस्सों तक पहुंचाने के लिए खाने में पर्याप्त मात्रा में फैट्स होने जरूरी हैं। इसलिए डाइट से फैट्स को पूरी तरह हटाने के बजाय आप मक्खन जैसे सैचुरेटेड फैट्स को अवौइड करें और इस की जगह औलिव औयल इस्तेमाल में लाएं।
  • दिन की शुरुआत जीरा वाटर, अजवाइन वाटर, मेथी वाटर या आंवला जूस से करनी चाहिए। इस से मैटाबोलिक रेट बढ़ता है।
  • बहुत ज्यादा देर तक खाली पेट न रहें। इस से आप एक बार में अधिक भोजन करेंगी. बेहतर होगा कि आप बीचबीच में कम वसा वाले स्नैक्स या फिर फल, सूप जैसी चीजें लेती रहें।
  • आरामदायक लाइफस्टाइल अपनाने के बजाय कुछ परिश्रम भी करें। याद रहे कि वजन तभी बढ़ता है, जब खाने से मिलने वाली कैलोरी पूरी तरह बर्न नहीं होती।
  • वजन कम करने का अनहैल्दी तरीका है क्रैश डाइटिंग। इस से न सिर्फ वजन कम होता है, बल्कि मसल्स व टिशूज पर भी इस का बुरा असर पड़ता है।

Drinink Water

  • दिन में 8-10 गिलास पानी पीएं।
  • आप के खाने में सोडियम की मात्रा कम होनी चाहिए। सोडियम शरीर से पानी सोखता है और ब्लडप्रैशर बढ़ाता है, इसलिए दिन भर में नमक बस 1 चम्मच ही लें।
  • कोलैस्ट्रौल लैवल कंट्रोल करने के लिए फैट की मात्रा पर ध्यान दें।

Fruits

  • पानी वाले फलसब्जी (मौसंबी, अंगूर, तरबूज, खरबूजा, खीरा, प्याज, बंदगोभी आदि) रैग्युलर लें।
  • कम से कम चीनी व नमक का प्रयोग करें।





Name  

Email ID
Comments
 




ट्रेडिंग न्यूज़